Picture Credit Pintrest

आपको  राम मंदिर के बारे मे कुछ रोचक तथ्य जानना है ?

Picture Credit Pintrest

राम मंदिर का निर्माण परंपरागत नागर शैली मे किया जा रहा है, जिसमे खंभों, द्वारों, मंडपों और शिखरों का प्रयोग होता है 

Picture Credit Pintrest

राम मंदिर की लंबाई 380 फुट, चौड़ाई 250 फूट और ऊंचाई 161 फूट है। इसमे कुल 392 खंभे और 44 द्वार हैं। 

Picture Credit Pintrest

राम मंदिर के मुख्य गर्भगृह मैं भगवान राम का बालरूप विग्रह स्थापित होगा, जो अभी अस्थाई ढांचे मे रखा हुआ है। 

Picture Credit Pintrest

राम मंदिर के परिसर में कुल 11 मंदिर होंगे, जिनमें सूर्यदेव, माँ भगवती, गणपती, भगवान शिव, माँ अन्नपूर्णा, हनुमान जी, महर्षि वाल्मीकि, महर्षि वशिष्ठ, महर्षि विश्वमित्र, महर्षि अगस्त्य, निषादराज, माता शबरी और ऋषीपत्नी देवी अहिल्या को समर्पित होंगे। 

Picture Credit Pintrest

राम मंदिर के चारों ओर आयताकार परकोटा रहेगा, जिसकी लंबाई 732 मीटर और चौड़ाई 14 फूट है। इसमें चारों कोनों पर चार मंदिरों का निर्माण किया जा रहा है।  

Picture Credit Pintrest

राम मंदिर के निर्माण मे लोहे का उपयोग नहीं किया जा रहा है। इसके लिए बालुआ पत्थर, गुरुजी बांस, लाख, चुना और गोबर का उपयोग किया जा रहा है। 

Picture Credit Pintrest

राम मंदिर मे निर्माण की लागत करीब 1100 करोड़ रुपये की अनुमानित है। इसके लिए देशभर से लोगों ने दान दिया है।  

Picture Credit Pintrest

राम मंदिर का उद्धाटन 22 जनवरी 2024 को किया गया, जिसमे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुख्य अतिथि थे।

Picture Credit Pintrest

राम मंदिर के निर्माण का इतिहास बहुत ही पुराना और विवादित है। इस स्थान पर पहले एक प्राचीन मंदिर था, जिसे 16 वीं शताब्दी मे मुगल बादशाह बाबर के सेनापति मीर बाकी ने तोड़कर बाबरी मस्जिद बनाई थी। 1992 में, सुप्रीम कोर्ट ने इस विवाद का फैसला सुनाया, जिसमे कहा गया की विवादित भूमि हिंदुओं को मिलेगी और वहाँ राम मंदिर का निर्माण होगा। 

Picture Credit Pintrest